“अप्रेल 2015 में नेपाल में 7.8 परिमाण का भूकंप आया, लेकिन हम सुरक्षित रहें”

पास्टर ग्रेस ली, नेपाल मानमिन चर्च

25 अप्रैल रविवार सुबह के 11:56 का समय। दोपहर में 7.8 मेगनिटयूड का भूकंप, जो कि 80 सालों में सबसे शक्तिशाली था उस क्षेत्र से टकराया और 1 घंटे तक भी नही थमा। हम शनिवार को मुख्य सभा अर्पण करतें है, इसलिए हम चर्च में ही थे। सुबह की मुख्य सभा के बाद मेरे चर्च के सदस्य भोजन करने के लिए सिड़ीयों से नीचे उतर रहें थे। पाँच-मंजीला वह इमारत ऐसे लड़खडा़ रही थी, मानो हम कोर्इ सवारी कर रहे हो।

ज्यादातर सदस्य एक घटें के लिये बहार सड़क पर चले गये। आराधना सभा के बजाए मैने प्रार्थना सभा को शुरू किया। कुछ सदस्य और मै जी सी एन के द्वारा विशेष दानियेल प्रार्थना सभा में शामिल थे जो मानमिन सेंट्रल चर्च सीओल से हो रही थी।

अगले दिन डा. ली ने आग्रहपूर्वक हमारे लिय जो चर्च में नेपाल में थे प्रार्थनी की। जबकि यह पहले से ही बता दिया गया था कि एक बलशाली भूकंप नेपाल के पूरे क्षेत्र से टकराएगा और भारी वर्षा होगी। यहां तक कि हिमस्खलन का पूर्वअनुमान भी बता दिया गया था। लेकिन हमारे चर्च का प्रत्येक सदस्य सुरक्षित रहा। उनके घरों में कुछ भी क्षति नही हुर्इ, यहां तक कि बोतले व कटोरियां तक नही टूटी। एक सदस्य की दुकान सुरक्षित रही जबकि उसकी दुकान के सामने एक मदिंर ढह गया। सभी घर वहां पर ढह गये लेकिन हमारे सदस्यों के घर सुरक्षित रहें। 208 शाखा और संगी कलिसीयाऐं (अब 227 है) परमेश्वर की सुरक्षा में बनी रही।

Be the first to comment

Leave a Reply