“मेरा बेटा स्वलीनता की पहली श्रेणी की मानसिक मंदता से पीड़ीत था परन्तु वह सामान्य हो गया”

डीकन जूनोक किम, मानमिन सेंट्रल चर्च।

जब मेरा बेटा 3 साल का था हमने उसे दिन देखभाल केंद्र में डाल दिया। एक दिन एक नर्सिंग टीचर ने मुझे बताया कि उसका व्यवहार अजीब है। उसने मुझे सलाह दी कि मै उसके विषय में किसी बच्चों के मनोचिकित्सक से बातचीत कंरू। हम मनोचिकित्सक से मिलने गये और उसने उसे अलग अलग प्रकार की जाँच के द्वारा परखा।

मेरे बेटे में, मंद भाषा विकास, अलगाव की चिंता, अभिभावक भ्रम, वात्सल्य की कमी, आतिक्रियशीलता विकार के लक्षण पाए गये। सामाजिक वार्तालाप में उसे मुश्किलें होती थी। दो सालों तक उसका उपचार चला लेकिन उसमे कोर्इ सुधार नही हुआ। और अन्त में जाँच में, स्वलीनता की पहली श्रेणी की मानसिक मंदता का रोग उस में पाया गया।

उस समय के दौरान मैने अपना व्यवसाय शुरू कर दिया था। मै अक्सर रविवार की सभाओं को यह कहकर छोड़ देता था कि मै अपने व्यवसाय में व्यस्त हूँ। मैने सदेंश में सुना कि स्वलीनता माता पिता के पापों के कारण होती है और केवल जब माता पिता पवित्र हो जांए तो बच्चा चंगार्इ पा सकता है। मैने दानियेल प्रार्थना सभा में अपने बीते जीवन के बारे में पश्चताप करना शुरू किया और परमेश्वर पर निर्भर रहा।

हम हर सभाओं मे बीमारों के लिये सिनियर पास्टर डा. जेरॉक ली की प्रार्थनाओं को ग्रहण करतें थे। ऐसा करने के द्वारा बेटा मिनसंग बदलना शुरू हो गया। वह दूसरों से आंखे नही मिला पाता था परन्तु अब उसने अध्यपकों और दोस्तों से बिना कीसी मुश्किल के बातचीत करना शुरू कर दिया। वह खुशी से गतिविधियों में शामिल होता है। उसका यह बदलाव मेरी आत्मिक उन्नति के साथ साथ चलता प्रतीत हो रहा था। और जब मैने प्रभु के अनुग्रह के लिए धन्यवादित हृदय से और अधिक विश्वासयोग्यता के  साथ कार्य किया तो मेरे बच्चें का विकास और भी अधिक तीव्रता हो गया।

एक बार फिर से उसकी स्वलीनता की जाँच की गर्इ। और नतीजों में बताया गया कि वह हर क्षेत्र में सामान्य हो चुका है केवल मौखिक अभिव्यक्ति की क्षमता का छोड़। उसकी गणितीय क्षमता और अंतरिक्ष धारणा क्षमता सामान्य बच्चों से भी कहीं अधिक बेहतर हो गर्इ, जिसने चिकितस्कों को आश्चर्य में डाल दिया। वह नियमित रूप से प्राथमिक स्कूल में जा सका और अब वह चौथी कक्षा में है। अब वह अपने दोस्तों के साथ अच्छी तरह से रहता है और हर गतिविधियों में सक्रिय अभिनय दिखाता है।

Be the first to comment

Leave a Reply