मेरा शरीर 90 डीग्री तक आगे की ओर (कुबड़) झुका हुआ था परन्तु अब मै सीधा खड़ा हो सकता हूँ।

भार्इ योराम गीओजीओ, इले-डे-फ्रांस मानमिन चर्च।

जब से मै छोटा बच्चा था मुझे दुष्क्रिया हो गया था जिसके कारण मेरा शरीर इतना झुक गया था कि चलते समय मेरा सिर मेरे घुटनो को छू जाता था। इससे भी बुरा यह था कि दो सालों से मुझे घबराहट की बीमारी होना शुरू हो गर्इ।

बहुत सारी जाँच होने के बाद डाक्टर इस नतीजे पर पहुँचे कि मुझे एस्पर्जर सिंड्रोम है। बहुत से मनचिकित्सकों और मनोविज्ञानिकों के द्वारा मेरी काउन्सिलिंग की गर्इ और अस्पताल में एक मरीज के बतौर मैने उपचार भी लिया। परन्तु मेरे लक्षण में कोर्इ सुधार नही हुआ।

दो सालों से मैने बहुत प्रकार की दवाऐं लेना शुरू कर दी। इसी बीच में मेरे सहपाठी की माँ ने मेरी माँ को बताया कि कोर्इ कोरियन पास्टर दक्षिण कोरिया से इले-डे-फ्रांस मानमिन चर्च में आ रही है।

15 जून 2016 को मै इले-डे-फ्रांस मानमिन चर्च में गया। रेव. हिसन ली ने मेरे सिर पर और कमर पर रूमाल रखकर बहुत बार प्रार्थनाऐं की और  मुझमें विश्वास बोया। मेरा शरीर सीधा हो गया और अन्त में मै सीधा खड़ा हो पाया। हाल्लेलुयाह!

1 Comment

Leave a Reply