Category: परमेश्वर का वचन – Word of God

‘‘क्रूस का संदेश-11’’

क्यों यीशु मसीह ही हमारा उद्धारकर्ता है? फिर भी सिद्ध लोगों में हम ज्ञान सुनाते हैं: परन्तु इस संसार का और इस संसार के नाश...

‘‘क्रूस का संदेश-9’’

क्यों यीशु मसीह ही हमारा उद्धारकर्ता है? फिर भी सिद्ध लोगों में हम ज्ञान सुनाते हैं: परन्तु इस संसार का और इस संसार के नाश...

‘‘क्रूस का संदेश-8’’

क्यों यीशु मसीह ही हमारा उद्धारकर्ता है? उद्धारकर्ता होने के लिए विशेषताएं – 1 ‘‘फिर भी हम समझदारों में ज्ञान की बाते सुनाते हैं, परन्तु...

“क्रूस का संदेश-7”

फिर भी सिद्ध लोगों में हम ज्ञान सुनाते हैं: परन्तु इस संसार का और इस संसार के नाश होनेवाले हाकिमों का ज्ञान नहीं। 7 परन्तु...

“क्रूस का संदेश-6”

फिर यहोवा परमेश्वर ने आदम को यह कहकर आज्ञा दी ‘‘तू वाटिका के किसी भी पेड़ का फल बेखटके खा सकता है, परन्तु जो भले...

‘‘क्रूस का संदेश-5’’

उत्पत्ति 2:7 में हम पाते है। ‘‘तब यहोवा परमेश्वर ने आदम को भूमि की मिटटी से रचा और उसके नथुनों में जीवन का श्वास फूंका...

‘‘क्रूस का संदेश-4’’

क्योंकि परमेश्वर आत्मा है, इसलिए हम अपनी इन आँखों से उसे नहीं देख सकते। पर फिर भी कर्इ प्रकार से अपने आप को हम पर...

‘‘क्रूस का संदेश-3’’

‘‘क्रूस का संदेश’’ परमेश्वर की वह गुप्त बुद्धि है जो समय (युगों) के आरम्भ होने से पहले से छिपी रही है। ‘‘क्रूस का संदेश’’ की...

‘‘क्रूस का संदेश-2’’

‘‘क्रूस का संदेश’’ परमेश्वर की वह गुप्त बुद्धि है जो समय (युग) के आरम्भ होने से पहले से छिपी हुर्इ है। ‘‘क्रूस का संदेश’’ श्रृंखला...